Author Archives: Dr. Kumarendra Singh Sengar

वो बहुत बुरा दिन था

कुछ पल ज़िन्दगी में ऐसे आते हैं जिन्हें लाख कोशिश करो भूलने की, भुलाने की मगर वे उतनी तेजी से सामने आते रहते हैं. वो दिन भी ऐसा है, बुढ़वा मंगल का. सुबह का ग्यारह-बारह बजे के आसपास का समय … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

जोखिम में जान

मुजफ्फरनगर में एक और ट्रेन हादसा हुआ. इसके बाद वही सरकारी लीपापोती, वही जाँच के आदेश. हर ट्रेन दुर्घटना के पीछे आतंकवादी कनेक्शन नहीं होता और हर ट्रेन हादसे के पीछे ऐसे ही कनेक्शन को तलाश करने का अर्थ है … Continue reading

Posted in प्रकाशित सामग्री | Tagged , , | Leave a comment

नक्सलवाद रोकथाम के लिए रणनीति बदलनी होगी

            देश वर्तमान में विभिन्न सामाजिक, आर्थिक समस्याओं से जूझने के साथ ही साथ कतिपय उग्र घटनाओं से भी दो-चार हो रहा है। इस तरह की घटनाओं में आतंकवाद, क्षेत्रवाद, वर्ग-संघर्ष के अतिरिक्त हम नक्सलवाद को भी देख सकते हैं। … Continue reading

Posted in आतंकवाद/नक्सलवाद, प्रकाशित सामग्री | Leave a comment

सेना, सैनिकों के सम्मान से खिलवाड़ उचित नहीं

कुछ समय पूर्व देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी सैनिकों का सम्मान किये जाने की बात कहते दिखे थे. ऐसा कहने के पीछे उनका मंतव्य सार्वजनिक स्थानों पर भी मिलते सैनिकों का सम्मान करना था. जैसा कि पिछले दिनों सोशल … Continue reading

Posted in प्रकाशित सामग्री, राजनीति | Leave a comment

विकास के सहारे बदलेगी छवि

उत्तर प्रदेश में पहले भी योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री बनाये जाने की आवाज़ उनके समर्थकों की तरफ से उठती रही थी. चुनाव परिणामों में प्रचंड बहुमत पाने के बाद ऐसी आवाजें भले ही और तेजी से उठी हों किन्तु किसी … Continue reading

Posted in प्रकाशित सामग्री, राजनीति | Leave a comment